Skip to main content

Posts

Featured

मुझे बस वो अंत बनना है...

मैनें सोच लिया है...
मुझे ना किसी किताब का आखिरी पन्ना बनना है....!!

बड़ी जिम्मेदारी का काम है..किसी का अंत होना...

मानो...सब इंतज़ार मे हो..
जो सारी कशमकश,उलझने..जो सारी कहानी मे थी,अंत में आकर सुलझने वाली हो...

मुझे बस वो अंत बनना है...!!💕

पर... थोड़ा अलग सा...थोड़ा अजीब सा.. सच कहूँ तो बिल्कुल बेहुदा सा...
एक ऐसा अंत ...जिसे पढकर आप कहो कि यहाँ से तो शुरुआत होनी चाहिए थी..!!💕
कि मानो... 200 पन्नो की एक प्रेम कहानी मे..
मै प्रेमियों को दुनिया से लड़ा कर..जीता कर...उन्हे बड़े प्यार से मिलाना चाहता हूँ और अंत में जुदा कर देना चाहता हूँ...
कितना सही लगेगा ना..इस जमाने के लिए..!!💕 कि जहाँ... हीर रांझा मिलने की आस मे मर गये...
वही आज के लैला मजनू है... जो मरने से पहले ना जाने कितनों से मिलते है..और उन्हें कितनी आसानी से छोड़ देते है..!!💕 कि मानो... प्यार की कोई उमर हो... जो... जमाने के संग बस कम होती चली गयी...
और अब... पैदा होते ही खत्म हो जाती है...!!💕
फिर ये जो..सपनों की कहानियाँ..संघर्ष से भरी हैं ना...
इनमें बस संघर्ष रहने देना चाहता हूँ... . . जीत निकाल देना चाहता हूँ...।।
क्…

Latest posts

Is layak nahi ho tum

मैं लेखक नही हूँ | i am not a Writer.

About Surendra Sidar

Connect with Surendra Sidar

Azadi Poem

क्या लिखूं ?

#2 मैं क्या हूं?

#1 मैं क्या हूँ ?

Inner Voice || Facebook ||